योगी सरकार की सरपरस्ती मे चल रहा है अवैध शराब का कारोबार: प्रियंका गाँधी

0
22

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जहरीली शराब पीने से 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. मौत का सिलसिला लगातार जारी है और इसका जिम्मेदार कौन है यह तक साफ नहीं हो पाया है. इस पूरे हादसे पर विपक्ष को बीजेपी सरकार पर हमला करने का बहाना मिल गया है. पूरे मामले पर राजनीतिक बयानबाजी चरम पर है. इन सबके बीच कांग्रेस की नवनिर्वाचित महासचिव प्रियंका गांधी ने भी बयान दिया है. उन्होंने इस पूरे हादसे पर दुख जताया है और कहा है कि इस घटना की जितनी निंदा की जाए कम है. माना जा रहा है कि औपचारिक रूप से राजनीति में एंट्री करने के बाद प्रियंका का ये पहला बयान है.

Loading...

उन्होंने कहा कि मैं यह जानकर स्तब्ध और बेहद दुखी हूं कि जहरीली शराब से उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के सहारनपुर, कुशीनगर और कई गांवों में 100 से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. उन्होंने कहा कि दिल दहला देने वाली इस घटना की जितनी निंदा की जाए कम है. उत्तराखंड व उत्तर प्रदेश सरकार की सरपरस्ती में अवैध शराब का इतना बड़ा कारोबार संचालित होता है यह कल्पना भी नहीं की जा सकती.  

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि मैं उम्मीद करती हूं कि भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) सरकारों द्वारा अपराधियों के खिलाफ़ सख्त कार्रवाई की जाएगी एवं मृतकों के परिजनों के लिए उचित मुआवज़ा और सरकारी नौकरी का प्रावधान किया जाएगा. प्रियंका ने कहा कि इतनी दुखद घटना के बारे में सुनकर मैं अत्यंत व्यथित हूं और शोक संतप्त परिवारीजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदनाएं प्रकट करती हूं.

पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी ने इस पूरे मामले पर योगी सरकार पर सीधे तौर पर हमला बोला है. जिस पूर्वी यूपी की जिम्मेदारी वह संभाल रही है वह योगी का गढ़ है और प्रियंका के बयान से साफ है वह सीधे तौर पर योगी आदित्यनाथ की मुश्किलें बढ़ाने वाली हैं और आने वाले दिनों में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को चिंता में डाल सकती हैं.

यूपी में 175 लोग हो चुके हैं गिरफ्तार

प्रियंका गांधी के कपड़ों को लेकर BJP सांसद के इस बयान से राजनीति में आया तूफान, बताया प्रियंका गाँधी…

इस पूरे मामले को लेकर उत्तर प्रदेश में प्रशासनिक कार्रवाई तेज कर दी गई है. यूपी के आबकारी विभाग के मुताबिक अब तक 297 लोगों पर मुकदमा दर्ज करके 175 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. सहारनपुर में 10 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया जा चुका है. दोनों राज्यों में अब तक 109 लोगों की मौत हो चुकी है. यूपी में 77 और उत्तराखंड में 32 लोगों की मौत हुई है.

मंत्री ने माना बड़ी चूक हुई

पूरे हादसे पर उत्तर प्रदेश के आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने चूक मानी है. उन्होंने आशंका भी जताई कि कहीं शराब में चूहे मारने वाली दवा तो नहीं मिलाई गई थी, इसकी जांच की जा रही है. जय प्रताप सिंह ने आजतक से बातचीत में माना कि जहरीली शराब मामले में आबकारी विभाग से बड़ी चूक हुई है और यह चूक का ही नतीजा है कि इतनी मौतें हुई हैं. उन्होंने यह भी माना कि कहीं ना कहीं पुलिस की मिलीभगत या फिर लापरवाही भी इसके लिए जिम्मेदार है.

हिंदी न्यूज़ पोर्टल UjjawalPrabhat.Com की अन्य मजेदार खबरों के लिए आएँ हमारी वेबसाइट पर.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here