यह कुत्ता कुंभ मेले में नागा बाबाओं संग लगाता है डूबकी, और साथ में करता है ये अनोखा काम…

0
19

इन दिनों तो प्रयागराज में कुंभ मेला चल रहा है और यहाँ पर कई अजीबोगरीब प्रकार के बाबा आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं. प्रयागराज कुंभ की शुरुआत 15 जनवरी से हुई थी और 4 मार्च को इसका समापन होगा. इस मेले में सभी लोग एकत्रित होकर आस्था की डूबकी लगाते हैं. साधु संतों की भी वहां भीड़ लगी हुई है. दूर दराज के इलाकों से आए सभी साधु-संत की एक झलक पाने के लिए लोग काफी ज्यादा उत्सुक रहते है

Loading...

हम आपको कुंभ मेले के एक ऐसे बाबा के बारे में बता रहे हैं जिनके साथ हमेशा उनका कुत्ता भी रहता है. जी हां… हम बात कर रहे हैं सन्यासी केदार गिरि के बारे में जिनका पालतू कुत्ता सोयांकी भी उनके पीछे-पीछे चल देता है. यहां तक कि जब केदार गिरि नदी में स्नान करने के लिए जाते हैं तो सोयांकी भी उनके साथ जाकर नदी में डुबकी लगाता है. जी हां… आपको बता दें सोयांकी को ड्राई फ्रूट्स खाना बहुत पसंद है और साथ ही वो हलवा, मक्खन और दूध का भी शौकीन है.

जिस घर की छत पर कौआ आकर कर दे ये काम, उस घर में जल्द किसी सदस्य की मौत पक्की…

 

इतना ही नहीं ये कुत्ता तो अपने मालिक को देखकर व्रत का पालन भी करने लग गया है. आपको बता दें सोयांकी के अलावा केदार गिरि के पास और पांच विदेशी नस्ल के कुत्ते हैं जिन्हें उन्होंने एक साल पहले करीब 21,000 रुपये देकर इंदौर से खरीदा था. उनके और भी 5 कुत्तों के नाम है टाइगर, शेरू, जैकी, ध्रुव, रैंकी और सोयांकी. इनमें से सोयांकी बाबा के ज्यादा करीब है. अपने कुत्तों के बारे में केदार गिरि का कहना है कि, ‘ये पांचों महज कुत्ते नहीं है बल्कि ये भी यहां आए साधुओं के जैसे ही हैं. ये पांचों नदी में डुबकी लगाते हैं, यज्ञ के समय उपस्थित रहते हैं और भंडारा का सेवन करते हैं.’

हिंदी न्यूज़ पोर्टल UjjawalPrabhat.Com की अन्य मजेदार खबरों के लिए आएँ हमारी वेबसाइट पर.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here