नवाबों के शहर लखनऊ की ये 7 बेहतरीन जगह दर्शाती है अपना इतिहास

0
21

बारिश का समय घूमने-फिरने के लिए जाना जाता हैं। इसलिए आज हम आपको लेकर जा रहे हैं नवाबों के शहर लखनऊ ‘Lucknow’। जहाँ की इमारतें और गलियाँ अपना इतिहास दिखाती हैं और उससे प्यार करने को मजबूर कर देती हैं। खासकर इस बारिश के मौसम में तो इन इमारतों का जैसे रूप ही निखर जाता हो और एक बार देखने के बाद नजर हटाने का दिल ही नहीं करता हैं। तो जब भी आप नवाबों के शहर लखनऊ जाए तो इन इमारतों को जरूर देखें। 

Loading...

* रूमी दरवाजा 

1783 ई नवाब आसफउद्दौला द्वारा बनावाए गए इस दरवाजे को देखने के लिए टूरिस्ट दूर-दूर से आते हैं। तुर्किश गेटवे के नाम से भी पहचाने जाने वाले इस दवाजे पर आप अद्भुत वास्तुकला को देख सकते हैं।

* घंटाघर 

लखनऊ के यह घंटाघर को भारत का सबसे ऊंचा क्लॉकटॉवर है। 1887 में बने इस 221 फीट ऊंचे इस क्लॉकटॉवर में ब्रिटिश वास्तुकला की झलक दिखाई देती है।

* सफेद बारादरी 

नवाब वाजिद अली द्वारा बनाई गई इस बारादरी की खूबसूरती टूरिस्ट को अपनी और आकर्षित करती है। सफेद पत्थर से बनी इस बारादरी का इस्तेमाल ब्रिटिश सरकार कोर्ट के रूप में करती थी।

* सआदत अली का मकबरा 

बेगम हजरत महल पार्क के पास में बनी इस मकबरे की शान इसकी वास्तुकला और गुम्बद छत है, जिसे देखने के लिए भी टूरिस्ट दूर-दूर से आते हैं। इसे देखें बिना आपका लखनऊ ट्रिप अधूरा है।

* छोटा इमामबाड़ा 

मोहम्मद अली शाह द्वारा बनाए गए इस खूबसूरत इमामवाड़ा में उनकी बेटी और पत्नी का मकबरा भी बना हुआ है। 67 मीटर ऊंचे इस इमामबाड़ा की चार मंजिल, तलाब और आकर्षक सजावट टूरिस्ट को अट्रैक्ट करती है।

* जामा मस्जिद 

जामा मस्जिद लखनऊ की सबसे बड़ी मस्जिद है। इसकी छत पर आप खूबसूरत चित्रकारी देख सकते हैं।

* भूल भूलैया 

दुनियाभर में मशहूर इस भूल भुलैया को बारा इमाम्बारा के नाम से भी जाना जाता है। इस ऐतिहासिक भवन का निर्माण आसिफ उद्दौला ने साल 1784 में कराया था। लखनऊ के ट्रिप में इसे अपनी लिस्ट में जरूर शामिल करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here