तेज प्रताप यादव ने कहा- अपने को चौकीदार कहता है, बल्कि इसका असली मकसद देश में नफरत फैलाना और बाँटना है

0
18

तेज प्रताप यादव ने कहा- अपने को चौकीदार कहता है, बल्कि इसका असली मकसद देश में नफरत फैलाना और बाँटना है

Loading...

नमस्कार दोस्तों, राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (LALU YADAV) के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव (TEJ PRATAP YADAV) टाइम पत्रिका (TIME MAGAZINE) को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM MODI) पर निशाना साधा है। तेज प्रताप यादव ने ट्वीट कर पीएम मोदी को नफरत फैलाने वाला तक कह दिया।

तेज प्रताप यादव ने अपने ट्वीट में टाइम पत्रिका के फोटो को अपने समर्थकों के साथ शेयर करते हुए लिखा है कि “खुद को कहता ये चौकीदार है। लेकिन नफरत फैलाना और देश को बाँटना ही इसका असली कारोबार है।” तेज प्रताप यादव ने अपने इस ट्वीट के साथ इंडिया टुडे पर इन दोनों की फोटो शेयर की है।

खुद को कहता ये चौकीदार है।
लेकिन नफरत फैलाना और देश को बाँटना ही इसका असली कारोबार है।

बता दें कि टाइम पत्रिका में छपे लेख को लेकर आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने ट्वीट के माध्यम से पीएम मोदी अपर निशाना साधा है। लालू यादव ने अपने ट्वीट में लिखा है कि “धर्म के नाम पर दंगा फसाद करने वालों, बैर रखने वालों, झगड़ने और झगड़ाने वालों याद रखो कि “मजहब इंसान के लिए बनता है,मजहब के लिए इंसान नहीं।”

अमेरिकी पत्रिका टाइम (TIME MAGAZINE) ने अपने अंतरराष्ट्रीय संस्करण के कवर पेज पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर के साथ विवादास्पद हेडलाइन प्रकाशित की है। इस हैडलाइन को लेकर काफी चर्चा की जा रही है। इस हैडलाइन में पीएम मोदी को भारत का ‘डिवाइडर इन चीफ’ बताया गया है।

बता दें कि अमेरिकी पत्रिका टाइम के इस संस्करण को 20 मई मुहैया कराया जाएगा। इस पत्रिका में इस लेख के साथ ही पीएम मोदी को लेकर एक अन्य लेख भी मोदी द रिफॉर्मर लिखा गया है। इस लेख में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आर्थिक नीत्तियों से लेकर अन्य कामकाज को लेकर चर्चा की गई है। इस पत्रिका में इस लेख के साथ ही पीएम मोदी को लेकर एक अन्य लेख भी मोदी द रिफॉर्मर लिखा गया है। इस लेख में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आर्थिक नीत्तियों से लेकर अन्य कामकाज को लेकर चर्चा की गई है। पत्रिका के दूसरे लेख में पीएम मोदी की विदेश नीति की सराहना की गई है। इतना ही नहीं केंद्र सरकार द्वारा लागू की गई जीएसटी प्रणाली को लेकर भी लेख में प्रशंसा की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here